अल्लाह जो महान है..प्रशंसा और इबादत के योग्य है..
सातों आकाश और धरती और जो कुछ उन में है उसी की महिमागान (तस्बीह़) करती हैं
रात और जो कुछ उस में है,दिन और प्रकट, ज़मीन और समुद्र .. हर चीज़ उस की प्रशंसा के साथ उस की महिमागान (तस्बीह़) और उस की पवित्रता (पाकीज़गी) बयान करती है। {अल्लाह तआला ने कहाः ”ऐसी कोई चीज़ नहीं जो पाकीज़गी और बड़ाई के साथ उसे याद न करती हो। हाँ यह सत्य है कि तुम उस की महिमागान (तस्बीह़) समझ नहीं सकते“।

अल्लाह जो महान है..प्रशंसा और इबादत के योग्य है.. सातों आकाश और धरती और जो कुछ उन में है उसी की महिमागान (तस्बीह़) करती हैं रात और जो कुछ उस में है,दिन और प्रकट, ज़मीन और समुद्र .. हर चीज़ उस की प्रशंसा के साथ उस की महिमागान (तस्बीह़) और उस की पवित ...

उद्धरण